Friday, April 19, 2024

15 Years Old Car Rules : 15 साल पुरानी गाड़ी से भी कर सकते हैं कमाई, क्या कहती है स्क्रैपिंग पॉलिसी

Join whatsapp channel Join Now
Folow Google News Join Now

Khabarwala 24 News New Delhi : 15 Years Old Car Rules कई लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि अगर उनकी कार 15 साल की उम्र को पार कर चुकी है तो क्या करें? 15 साल पुरानी गाड़ी को लेकर कई नियम होते हैं जिनके बारे में जानना जरूरी है। इसके बाद आपको पता चल जाएगा कि आप पुरानी कार से भी कमाई कर सकते हैं। दरअसल, भारत में 15 साल पुरानी गाड़ी की फिटनेस खत्म हो जाती है, जिसके बाद आप उसे चला नहीं सकते। अगर कोई इतनी पुरानी कार चलाते हुए पकड़ा गया तो चालान कट सकता है।

क्या आपकी कार 15 साल पुरानी है (15 Years Old Car Rules)

15 साल पुरानी गाड़ी को लेकर नियम और कानून की बात करें तो इतनी पुरानी गाड़ी को नहीं चला सकते हैं। अगर आप 15 साल पुरानी गाड़ी को स्क्रैप कराते हैं तो अथॉराइज्ड स्क्रैपर से संपर्क करना होगा। इस लिंक पर के आप अपने राज्य के अथॉराइज्ड स्क्रैपिंग सेंटर की डिटेल्स चेक कर सकते हैं।

आखिर क्या होती है स्क्रैपिंग पॉलिसी (15 Years Old Car Rules)

गाड़ी स्क्रैप करने का मतलब है कि अपनी पुरानी गाड़ी को कबाड़ बनाने के लिए बेच देते हैं। सरकार ने देश भर में स्क्रैपर्स को इस काम के लिए प्रमाणित किया है। गाड़ी स्क्रैप करने के बाद आपको डिपॉजिट सर्टिफिकेट मिलता है। इस सर्टिफिकेट के जरिए आप स्क्रैपिंग पॉलिसी के तहत कई तरह के बेनिफिट्स ले सकते हैं।

15 साल पुरानी गाड़ी का क्या करें (15 Years Old Car Rules)

15 साल पुरानी गाड़ी का रजिस्ट्रेशन रिन्यू करवाने के लिए आपको फीस देनी होगी। इसके अलावा आपकी पुरानी गाड़ी को फिटनेस टेस्ट से भी गुजरना होगा। अगर आपकी गाड़ी फिटनेस टेस्ट पास नहीं करती है, तो रजिस्ट्रेशन और फिटनेस रीन्यू नहीं होगा। ध्यान रहे कि दिल्ली-एनसीआर में 15 साल से पुरानी गाड़ियों पर बैन है।

5 साल के लिए रीन्यू किया जाता है (15 Years Old Car Rules)

आमतौर पर पुरानी गाड़ी का रजिस्ट्रेशन और फिटनेस 5 साल के लिए रीन्यू किया जाता है। आप 5 साल तक अपनी पुरानी गाड़ी को पहले की तरह चला सकते हैं। अगर कमर्शियल गाड़ी है तो टैक्सी या कैब के तौर भी चला सकते हैं। प्राइवेट गाड़ी को टैक्सी या कैब में चलाना है तो प्राइवेट गाड़ी को कमर्शियल गाड़ी में तब्दील करना होगा।

रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस जाना होगा (15 Years Old Car Rules)

आप भारत सरकार के परिवहन पोर्टल पर जाकर ये सभी कार कर सकते हैं। यहां से आप रजिस्ट्रेशन और फिटनेस सर्टिफिकेट रीन्यू करने के लिए अप्लाई कर सकते हैं। एप्लिकेशन फॉर्म भरने और फीस पेमेंट करने के बाद आपको तय डेट पर रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस (आरटीओ) जाना होगा।

स्क्रैप पॉलिसी के फायदे (15 Years Old Car Rules)

डिस्काउंट का लाभ उठाएं: जब आप पुराने वाहनों को स्क्रैप करते हैं तो नई गाड़ी खरीदने पर ये फायदे मिलते हैं। गाड़ी को स्क्रैप करने के बाद मालिक को नई गाड़ी की कीमत (एक्स-शोरूम) पर 4 से 6 फीसदी की छूट मिल सकती है।

रजिस्ट्रेशन फीस माफ: डिपॉजिट सर्टिफिकेट देने पर नई गाड़ी की रजिस्ट्रेशन फीस माफ कर दी जाती है।

रोड टैक्स पर रियायत: राज्य सरकारें नई गाड़ियों खरीदने पर रोड टैक्स में रियायत दे सकती हैं। नॉन-ट्रांसपोर्ट गाड़ियों के लिए के लिए 25 फीसदी रियायत और ट्रांसपोर्ट गाड़ियों के लिए 15 फीसदी तक रियायत हो सकती है।

नई गाड़ी पर छूट: गाड़ी बनाने वाली कंपनियों से डिपॉजिट सर्टिफिकेट के आधार पर नई गाड़ी खरीदने पर 5 फीसदी की छूट देने का अनुरोध किया गया है। यह छूट आपकी गाड़ी को स्क्रैप करने पर मिले डिस्काउंट से अलग है।

यह भी पढ़ें...

latest news

Join whatsapp channel Join Now
Folow Google News Join Now

Live Cricket Score

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Live Cricket Score

Latest Articles

error: Content is protected !!